Your tagline goes here!|Thursday, April 27, 2017
You are here: Home » News » Chittor News » ताले में अस्पताल

ताले में अस्पताल 

भादसौड़ा। राजकीय पशु चिकि त्सालय भादसौडा में पिछले तीन माह से ताला लगा हुआ है। हालात यह है कि ग्रामीण अपने पशुओं को उपचार के लिए लेकर आते हैं, लेकिन वहां पर कोई कर्मचारी उपस्थित नहीं होने से बेरंग लौट जाते हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि इस पशु चिकित्सालय पर सरकार आपके द्वार के दौरान दौरे पर आई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने निरीक्षण किया था और केन्द्र की स्थिति अच्छी देखकर मुख्यमंत्री राजे ने संतुष्टि जताई थी। इस पशु चिकित्सालय पर आस-पास के गांवों के अनेक बीमार पशु लाए जाते हैं, लेकिन उपचार के लिए कोई कर्मचारी नहीं मिलने से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है। बड़ी बात यह है कि चित्तौडग़ढ़ के सांसद स्वयं इसी गांव के रहने वाले हैं, लेकिन वे भी इसके लिए कोई प्रयास करते नहीं दिखाई दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री के जाते ही जड़ दिया ताला
इस पशु चिकित्सालय पर मुख्यमंत्री के दौरे के दूसरे ही दिन ताले लग गए, क्योंकि यहां पर कार्यरत डॉ.संजय रावत को स्थानान्तरित करते हुए सांवलियाजी की गौशाला में लगा दिया गया। उसके बाद भादसौड़ा का यह पशु चिकित्सालय सुनसान पड़ा है। सांवलियाजी गौशाला में तो चिकित्सक तैनात कर दिया, लेकिन इस क्षेत्र के लोगों को चिकित्सक नहीं होने से बीमार पशुओं को अन्यत्र ले जाना पड़ता है और उनका खेती का समय बर्बाद होता है।

Add a Comment