Your tagline goes here!|Thursday, April 27, 2017
You are here: Home » News » Chittor News » मुद्राओं और करतबों के बीच छिपी है उड़िया संस्कृति

मुद्राओं और करतबों के बीच छिपी है उड़िया संस्कृति 

gotipua dance in central academy (3)

चित्तौड़गढ़ 10 अक्टूबर,2014

 

स्पिक मैके चित्तौड़गढ़ द्वारा बीते दो दिनों में ओडिशा के लोक नृत्य गोटीपुआ की तीन प्रस्तुतियां आयोजित की गयी।विरासत श्रृंखला के तहत हो रहे इन तीनों कार्यक्रमों में एक सी चार प्रस्तुतियां पेश की जिनमें नक्षत्र समूह भुवनेश्वर के कलाकारों ने वंदना, पल्लवी, अभिनय और बंध नृत्य बहुत गूंथे हुए अंदाज़ में प्रस्तुत किया। नगर के विद्यार्थी और संस्कृतिप्रेमियों ने इन्हें खूब सराहा।लगातार बजाती लयबद्ध तालियों और उड़िया गीतों के स्वरों के बीच ओडिशा की प्रादेशिक धरोहर अपने पूरे प्रभाव के साथ अनुभव की गयी।मृदंग,बांसुरी की अद्भुत जुगलबंदी के साथ लोक रंग की खुशबू बहुत बेहतर रूप में निखरीउड़िया पहनावा और वैसी ही ज्वेलरी से सजे-धजे नौ नन्हे कलाकार अपने पाँच संगीतकारों के साथ खूब छाए रहे।दल के नायक बिजय कुमार ने कहा कि गुरुकुल परम्परा में सीख रहे ये बच्चे अपने मुद्राओं और करतबों के बीच बहुत कुछ गहरी बातें कहना चाहते हैं।असल में दिखने में मनोरंजक यह नृत्य अपने पूरे रूप में बहुत अध्यात्मिक और सालों की विरासत को समेटे हुए है 

 

दस अक्टूबर को दल की दो प्रस्तुतियां हुई जिनमें सुबह नौ बजे सेन्ट्रल एकेडमी स्कूल में अतिथियों का स्वागत प्राचार्य अश्लेश दशोरा, विजन स्कूल ऑफ़ मैनेजमेंट की निदेशक डॉ.साधना मंडलोई, स्पिक मैके अध्यक्ष डॉ. खुशवंत सिंह कंग और सह सचिव आशा सोनी ने किया।विद्यालय के लघभग सात सौ बच्चों ने पूरे तरीके से आयोजन का आनंद लिया।इसी तरह दोपहर दो बजे मेवाड़ गर्ल्स कॉलेज में भी छ सौ छात्राओं ने इस प्रस्तुति का भरपूर स्वागत किया और इन उर्जावान बाल कलाकारों से अभिभूत भी हुईं।मेवाड़ एज्युकेशन सोसायटी के अध्यक्ष भंवर लाल गदिया के हवाले से बताया कि शारीरिक संतुलन और एकाग्रता मांगती इस नृत्य परम्परा ने सभी को मंत्र मुग्ध कर दिया।यहाँ बतौर अतिथि स्पिक मैके के वरिष्ठ सलाहकार डॉ.ए.एल.जैन,आकाशवाणी चित्तौड़गढ़ के कार्क्रम अधिकारी लक्ष्मण व्यास,सैनिक स्कूल के प्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल अजय ढील मौजूद थे।कॉलेज निदेशक प्रो.श्रीपाल सुथार, डॉ. सी.बी.कोठारी,छात्रसंघ अध्यक्षा पूनम सोनी,और उपाध्यक्ष कविता व्यास ने मेहमानों का विजय स्तम्भ प्रतिकृति और शौल के साथ स्वागत किया  

 

इससे पहले गुरुवार शाम साढ़े पाँच स्पिक मेके समन्वयक ज्ञानेश्वर के निर्देशन में बजे सैनिक स्कूल के शंकर मेनन सभागार में भी इसी दल ने अपनी सफल और प्रभावपूर्ण प्रस्तुति दी थी जिसमें अतिथियों का सत्कार श्रीमती नीतू ढील ने किया और कलाकारों के बारे में पूरण रंगास्वामी ने पढ़ा।कार्यक्रम का संचालन सचिव संयम और सह सचिव आशा सोनी ने किया।कार्यक्रम में मुन्ना लाल डाकोत, उपाध्यक्ष नटवर त्रिपाठी, पूर्व सचिव लालुराम सालवी और हंसराज सालवी सहित कई लोग मौजूद थे।स्पिक मेके का अगला आयोजन चौदह अक्टूबर को होगा जिसमें देश के नामी कबीर गायक प्रहलाद सिंह तिपानिया अपने पाँच संगतकारों के साथ चित्तौड़ आयेंगे

 

Add a Comment